हर महिला के लिए जरुरी हैं ये मेडिकल टेस्ट, एक बार जरुर करा लेनी चाहिए

आमतौर पर महिलाएं अपने स्वास्थ्य को लेकर लापरवाही बरतती हैं। परिवार की ज़िम्मेदारी में उनका खुद का स्वास्थ्य सबसे बाद में आता है। ऐसे में पहले से कुछ मेडिकल टेस्ट कराने की बात को बेहद कम ही अहमियत दी जाती है। आइए जानते है कि वो कौन से टेस्ट हैं, जिन्हें हर महिला को एक उम्र के बाद जरूर कराना चाहिए।

कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC) – इस टेस्ट से एनीमिया, इंफेक्शन और कुछ तरह के कैंसर का पता लगाया जाता है। ये टेस्ट 20 की उम्र के बाद भारतीय महिलाओं के लिए और भी जरुरी हो जाता है क्योंकि भारत में ज्यादातर महिलाओं में आयरन की कमी देखी गई है, जिन्हें सप्लीमेंट दिए जाने की जरुरत है।

IMAGE COPYRIGHT : GOOGLE

थायराइड फंक्शन टेस्ट – 20 की उम्र के बाद रूटीन हेल्थ चेकअप में थॉयराइड टेस्ट करा लेना चाहिए। अगर रिजल्ट नॉर्मल आता है, तो साल में एक बार ये टेस्ट कराने को कहा जाता है।

पैप स्मीयर टेस्ट – इसके जरिए सर्विक्स में प्री-कैंसरकारक बदलाव का पता लगाया जा सकता है। ये टेस्ट 21 की उम्र के बाद खासकर सेक्सुअली एक्टिव हर महिला को कराने की सलाह दी जाती है।

मैमोग्राम – भारत में हर आठ में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर की चपेट में है। 40 की उम्र के बाद महिलाओं को हर दो साल पर मैमोग्राफी करानी चाहिए।

कैल्शियम और विटामिन D का टेस्ट – विटामिन डी की कमी से बोन लॉस और आगे चलकर ऑस्टिपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है। कैल्शियम के टेस्ट में ब्लड टेस्ट के जरिए बोन मेटाबॉलिज्म देखा जाता है।

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन की जांच – सेक्सुअली एक्टिव होने के बाद हर महिला को एचआईवी, हेपेटाइटिस बी और सी जैसे सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन की जांच करानी चाहिए। ये टेस्ट और भी जरूरी हो जाते हैं, अगर आप प्रेग्नेंसी की तैयारी में हैं।

लिपिड प्रोफाइल – इस ब्लड टेस्ट में आपके कुल कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड्स, एचडीएल और एलडीएल लेवल का पता चलता है। इस ब्लड टेस्ट में आपके कुल कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड्स, एचडीएल और एलडीएल लेवल का पता चलता है।

पेट का अल्ट्रासाउंड – 30 की उम्र के बाद पेट का अल्ट्रासाउंड करना चाहिए।ओवेरियन और यूटरस कैंसर के मामले में पेट के अल्ट्रासाउंड से कुछ संकेत मिल सकते हैं। जिसके बाद आगे और टेस्ट कराए जा सकते हैं।

IMAGE COPYRIGHT : GOOGLE

वजन और बीपी पर भी ध्यान दें – सिर्फ ब्लड प्रेशर का रेगुलर चेकअप करके बहुत सी गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। आमतौर पर सभी को अक्सर अपना वजन लेते रहना चाहिए क्योंकि बहुत ज्यादा वजन आगे चलकर कई बीमारियों का कारण बन सकता है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *