05 सेकंड में ख़त्म हो गयी 60 जिंदगियां, जानिए अमृतसर रेल हादसे की पूरी सच्चाई

न्यूज़ रूम : कल पंजाब में दशहरे उत्सव के दौरान बड़ा हादसा हो गया जिससे खुशियाँ मातम में बदल गयी। दरअसल, अमृतसर शहर से सटे जोड़ा फाटक के पास शाम क़रीब साढ़े छह बजे रावण दहन का कार्यक्रम चल रहा था। इस दौरान एक तेज़ रफ़्तार लोकल ट्रेन जोड़ा फाटक से गुज़री और ट्रैक के पास खड़े होकर रावण दहन देख रहे बहुत से लोग इस ट्रेन की चपेट में आ गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जिस वक़्त तेज़ रफ़्तार ट्रेन घटनास्थल से गुज़री, बहुत सारे लोग ट्रैक के पास खड़े थे। कुछ लोग ट्रैक पर बैठे हुए थे और कुछ मोबाइल फ़ोन पर रावण दहन की वीडियो बना रहे थे। जब रावण के पुतले को आग लगाई गई तो मंच से लोगों से पीछे हटने की अपील की गई थी। इस वजह से भी काफ़ी लोग मैदान से पीछे हटकर रेलवे ट्रेक पर चले गए थे। बताया जा रहा है कि मरने वालों की संख्या बढ़कर 62 हो चुकी है। 150 से ज़्यादा लोग ज़ख़्मी हैं।

घटना के बाद से ही सोशल मीडिया पर लोग जहाँ शोक संवेदनाएं व्यक्त कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर इस पूरे मामले को लेकर एक दुसरे पर आरोप भी लग रहे हैं। इस घटना को लेकर तमाम नेताओं ने ट्वीट कर दुख जताया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्विट कर लिखा कि ये दिल दहलाने वाली त्रासदी है। अपने प्रियजनों को खोने वाले लोगों के प्रति मैं गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। घायलों के लिए प्रार्थना कर रहा हूं। मैंने अधिकारियों को तत्काल मदद का निर्देश दिया है। वहीँ, गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि पंजाब में दशहरे के दिन गई लोगों की अनमोल जानों के नुकसान के दर्द को मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। मृतकों के परिजनों के लिए संवेदनाएं। 

अमृतसर में रेलवे के हेल्पलाइन नंबर:

  • 0183-2223171
  • 0183-2564485

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *