रायबरेली में शिक्षिका की वजह से छात्र ने दे दी जान, मुकदमा दर्ज

न्यूज़ रूम : रायबरेली में मानसिक एवं शारीरिक प्रताड़ना से त्रस्त होकर एक छात्र ने आत्महत्या कर ली। आपको बता दें कि रायबरेली के प्रतिष्ठित स्कूलों में शुमार दयावती मोदी पब्लिक स्कूल के कक्षा 6 के छात्र ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। आपको बता दें कि रोज रोज के तनाव से तंग आ चुका रुद्राश पांडे उम्र करीब 11 वर्ष ने ट्रेन के आगे छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। रुद्राश पांडे के परिजनों ने दयावती मोदी पब्लिक स्कूल को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा 15 अक्टूबर के दिन छात्र का मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किया गया। बता दें कि हरचंदपुर के रहने वाले छात्र रुद्रांश पांडे काफी होशियार छात्र था।

दरअसल, पूरा मामला यह है कि विद्यालय में पहले एक शिक्षिका द्वारा करीब 15 से 16 थप्पड़ मारे गए उसके बाद उसे गैलरी में डंडों से पीटा गया तथा बोला गया कल स्कूल बस द्वारा ना आकर अपने पिताजी के साथ ही आना। उसके सामने ही बच्चे के पिता को स्कूल प्रशासन द्वारा फोन किया गया कि कल आप अपने बच्चे को विद्यालय के बस से ना भेजें तथा स्वयं से लेकर विद्यालय आए। इसके पश्चात शिक्षिका ने अन्य सहपाठियों से कहा कि यह बच्चा बहुत गंदा है और कोई भी इससे बात नहीं करेगा और यदि कोई इस से बात करेगा तो उसका भी यही हश्र होगा। इसके बाद रुद्राक्ष से किसी बच्चे ने दिनभर कोई बात नहीं की जिसकी वजह से वह घनघोर मानसिक अवसाद की अवस्था में चला गया। विद्यालय की छुट्टी के पश्चात स्कूल बस में भी उस 11 साल की अबोध बालक से किसी भी बच्चे ने शिक्षिका के डर के मारे बात नहीं की।

घर पर पूछे जाने पर उसने बताया कि आज उसकी काफी पिटाई की गई है और वह रोने लगा। मां ने समझाया तो एक केला बमुश्किल से खाया और उसके बाद उसने ट्यूशन जाने के लिए बस्ता उठाया परंतु ट्यूशन ना जाकर वह सीधे रेलवे ट्रैक पर चला गया और ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *