बंगाल में दीदी की दबंगई : सीबीआई मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

न्यूज़रूम : पश्चिम बंगाल में सीबीआई अधिकारियों और पुलिस के बीच रविवार को हुए टकराव की ख़बरें सोशल मीडिया पर अब भी जमकर चर्चा बटोर रही है। इस घटना के बाद राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के प्रति एकजुटता दिखाने और सीबीआई के विरोध में धरने पर बैठ गई हैं। यह हैरानी की बात ही है कि जिस सीबीआई के डर से अच्छे अच्छों की साँसे अटक जाती थी बंगाल में वही सीबीआई ममता की पुलिस के आगे बेबस दिखी।

जानकारों का मानना है कि बतौर स्वायत्त एजेंसी सीबीआई की विश्वसनीयता शून्य हो चुकी है इसलिए उसे ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ा। कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार और पश्चिम बंगाल सरकार के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई मंगलवार सुबह होगी। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और संजीव खन्ना का खंडपीठ इसकी सुनवाई करेगा।

आपको बता दें कि सीबीआई ने यह याचिका कल यानी सोमवार को ही दायर की थी और कहा था कि राजीव कुमार साक्ष्यों को नष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा था कि उसके पास सीबीआई ने ऐसा एक भी सबूत पेश नहीं किया है, जिससे उसके आरोपों की पुष्टि होती हो।

सोमवार को सीबीआई का पक्ष रखते हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा था कि राजीव कुमार इलेक्ट्रॉनिक सबूत नष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं, और सीबीआई के लोग उनके आवास पर इसी कारण गए थे। उन्होंने कहा कि सीबीआई अफ़सरों को गिरफ्तार कर पार्क स्ट्रीट थाने में रखा गया था।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *